प्रधानमंत्री के संबोधन का मूल पाठ

 
नई दिल्ली , 31 जनवरी । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संसद के बजट सत्र से पूर्व आज सम्बोधित किया । 


प्रधानपमंत्री के संबोधन का मूल पाठ 







 नमस्कार सभी साथियों को 2020 का ये प्रथम सत्र है, इस दशक का भी यह प्रथम सत्र है। हम सबका प्रयास रहना चाहिए कि इस सत्र में इस दशक के उज्जवल भविष्य के लिए मजबूत नींव डालने वाला ये सत्र बना रहे। आज आदरणीय राष्ट्रपति जी का उद्धबोधन होगा और कल इस नववर्ष का बजट भी प्रस्तुत किया जाएगा। ये सत्र अधिकतम आर्थिक विषयों पर चर्चा केंद्रित रहे।



वैश्विक आर्थिक स्थितियों के संदर्भ में भारत किस प्रकार से इन परिस्थितियों का फायदा उठा सकता है। अपनी आर्थिक गतिविधि को और मजबूत बनाते हुए वैश्विक परिवेश का अधिकतम लाभ भारत को मिले, हमारी सरकार की पहचान पीड़ित हो, शोषित हो, वंचित हो, महिलाएं हो इनको empower करने की रही है। इस दशक में भी हमारा उन्ही दिशा में बल रहेगा और मैं चाहता हूं कि दोनों सदन में आर्थिक विषयों पर, empowerment of people के ऊपर बहुत व्यापक चर्चा हो, अधिक अच्छी चर्चा हो, दिनों-दिन हमारी चर्चा का स्तर अधिक समृद्ध होता चले। इस पूरे विश्वास के साथ मै आप सबका भी बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूं। नमस्कार ।