सहकारी बैंक इकाईयों के लिए 500 करोड़ के ऋण कराएंगे उपलब्ध


जयपुर31 जनवरी। सहकारिता मंत्री,  उदयलाल आंजना ने शुक्रवार को बताया कि प्रदेश में कृषि प्रसंस्करणकृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात को बढ़ावा देने के लिए श्रृंखलाबद्ध इकाइयां (प्रसंस्करणवेयर हाउसकोल्ड़ स्टोरेज आदि) स्थापित की जाएगी।


इन इकाईयों की स्थापना हेतु अपेक्स बैंक एवं केन्द्रीय सहकारी बैंकों से वित्त पोषण की योजना लागू की गई है। जिसके तहत इकाई स्थापित करने वाले कृषकों एवं उद्यमियों को 500 करोड़ रूपये के ऋण उपलब्ध कराएं जाएंगे। इसके लिए सहकारिता विभाग द्वारा इस संबंध में योजना जारी की गई है।


       आंजना ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेत्त्व वाली सरकार ने राज्य में कृषि प्रसंस्करण को बढ़ावा देने के लिए कृषि प्रसंस्करणकृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन नीति वर्ष 2019 में जारी की थी।


मुख्यमंत्री  गहलोत की मंशा है कि किसानों की आमदनी को दुगना किया जाए तथा किसानों को उनके उत्पादों का पूरा मूल्य मिले इस ओर सहकारिता विभाग द्वारा एक बड़ा कदम उठाया गया है। योजना के अनुसार राज्य में स्थापित होने वाले नए एवं वर्तमान में स्थापित कृषि प्रसंस्करण और कृषि व्यवसाय उद्यम जो आधुनिकीकरणविस्तार या विविधीकरण को अपना रहे हैको वित्त पोषण सहकारी बैंकों द्वारा किया जाएगा।