आयकर स्लैब में बदलाव : नए स्लैब में आयकर देना वै​कल्पिक


नई दिल्ली, 1 फरवरी। लोकसभा में आज पेश किये गये बजट में सरकारी कर्मिकों समेत आयकर दाताओं को बडी राहत दी गई है ।
  नए आयकर स्लैब के अनुसार अब 5 लाख रूपये तक की आमदानी पर कोई आयकर नहीं देना पडेगा ।
 केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से पेश बजट प्रस्ताव के अनुसार 5 लाख रूपये तक की आमदानी पर कोई कर नहीं लगेगा । पांच 5 लाख के बाद साढे सात लाख रूपये तक 10 प्रतिशत की दर से आयकर देना होगा । आयकर की अन्य स्लेब के अनुसार साढे सात लाख से 10 लाख तक 15 प्रतिशत,10 से साडे बारह लाख पर 20 प्रतिशत साढे बारह से 15 लाख तक 25 प्रतिशत और 15 लाख से उपर 30 प्रतिशत आयकर देना होगा ।
 आयकर दाताओं के लिए यह नई आयकर स्लेब जारी की गई है यदि कोई आयकर दाता नई आयकर मापदंड अपनाता है तो उसे पुरानी आयकर स्लेब का लाभ छोडना पडेगा ।
 बजट प्रस्ताव के अनुसार पुरानी व नए आयकर स्लेब में कर देना वैकल्पिक होगा ।