इंटरनेट पर पूर्ण प्रतिबन्ध का विकल्प पर  बैठक

जयपुर, 14 फरवरी। संभागीय आयुक्त  के.सी.वर्मा की अध्यक्षता में इंटरनेट प्रतिबन्ध का विकल्प तलाश करने के सम्बन्ध में बनाए गए वर्किंग गु्रप की बैठक शुक्रवार को संभागीय आयुक्तालय सभागार में हुई। 



 

बैठक में टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स, व्हाट्सअप, पुलिस एवं डीओआईटी के प्रतिनिधि शामिल हुए।

 

 वर्मा ने बताया कि विशेष परिस्थितियों में इंटरनेट पर पूर्ण प्रतिबन्ध के कारण प्रभावित क्षेत्र में चिकित्सा, परिवहन समेत कई अपरिहार्य सेवाओं पर विपरीत असर पड़ता है। इससे उस क्षेत्र के निवासियों एवं इंटरनेट पर आधारित सेवाओं के उपभोक्ताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस समस्या का हल निकालने के लिए जनवरी में टेलीकॉम कम्पनियों, बीएसएनएल, डीओटी, व्हाट्सअप एवं फेसबुक प्रतिनिधियों को शामिल कर एक वर्किंग गु्रप का गठन किया गया था। 

 

 वर्मा ने बताया कि इंटरनेट पर प्रतिबन्ध का विकल्प काफी तकनीकी विषय है। इसे लेकर सभी टेलिकॉम प्रतिनिधियों, व्हाट्सप, फेसबुक प्रतिनिधियों के मध्य तकनीकी मंथन जारी है। 

 

संभवतः इंटरनेट पर पूर्ण प्रतिबन्ध का विकल्प ढूंढने की यह पहली कोशिश है, इसलिए इसका समाधान भी तकनीकी चुनौतियों को हल करने से जुड़ा है। अब तक तीन दौर की बात-चीत हो चुकी है। विशेषकर सोशल मीडिया प्रतिनिधियों से इस विषय पर तकनीकी प्रत्युत्तर अपेक्षित है। इसे लेकर 3 मार्च को फिर से मीटिंग आयोजित की जाएगी।