क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत शीघ्र

 

 

जयपुर, 14 फरवरी। उद्योग मंत्री  परसादी लाल मीना ने खान मंत्री की ओर से शुक्रवार को विधानसभा में कहा कि लूणी विधानसभा क्षेत्र में खनन क्षेत्र की क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत शीघ्र करवा दी जाएगी। 

 

 मीना प्रश्नकाल में इस संबंध में विधायकों द्वारा पूछे गये पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि डीएमटी फण्ड के माध्यम से खनन क्षेत्र की क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत का काम करवाया जाता है। उन्होंने कहा कि खनन से बाहर क्षेत्र की लिंक सड़कों की मरम्मत का कार्य नहीं करवाया जाता है। 

 

इससे पहले विधायक  महेन्द्र विश्नोई के मूूल प्रश्न के जवाब में  मीना ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र लूणी में खनिज बजरी के खनन हेतु 15 खनन पट्टे तथा 2 अल्पावधि अनुमति पत्र जारी किये गये हैं। यह भी सही है कि इस क्षेत्र में खनिज परिवहन से सड़कें क्षतिग्रस्त हो रही है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019-20 में भारी वर्षा से भी लूणी विधानसभा क्षेत्र के बजरी खनन क्षेत्र में स्थित सड़कें क्षतिग्रस्त हुई है। इन क्षतिग्रस्त सड़कों के मरम्मत हेतु आपदा राहत कोष (एसडीआरएफ) के अन्तर्गत तात्कालिक मरम्मत हेतु स्वीकृति जारी की गई। इसके अतिरिक्त संवेदक गारंटी अवधि के तहत मरम्मत करवाई गई सड़कों का नवीनीकरण राज्य सरकार के वित्तीय संसाधनों की उपलब्धता एवं पारस्परिक प्राथमिकताओं पर निर्भर है।

 

उन्होंने बताया कि सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा निर्मित सड़कों की मरम्मत समय-समय पर साधारण मरम्मत मद में उपलब्ध बजट के तहत करवाई गई है तथा इन सड़कों का नवीनीकरण राज्य सरकार के वित्तीय संसाधनों की उपलब्धता एवं पारस्परिक प्राथमिकताओं पर निर्भर है।

मीना ने बताया कि बजरी परिवहन से अन्य राजकीय विभागों या एजेन्सियों द्वारा निर्मित सड़कों की क्षतिग्रस्त होने पर मरम्मत हेतु अलग से बजट जारी करने की कोई योजना नहीं है परन्तु ऎसी क्षतिग्रस्त सड़कों का पैच मरम्मत कार्य राज्य सरकार के विभिन्न विभागों की सम्बन्धित मद से करवाया जाता है।