चेटीचण्ड पर्व  मनाया-


अजमेर 25 मार्च। चेटीचण्ड के पावन पर्व पर धर्मप्रेमियों के आये फोन संदेशों पर ईश्वर मनोहर उदासीन आश्रम, अजयनगर के महंत श्री स्वरूपदास उदासी ने कहा कि यह महामारी बहुत गम्मीर है व्यक्ति को अपने घर के अंदर ताला लगाकर रहना और परिवार के साथ सुरक्षित रहकर सरकार द्वारा दिखाये गये गाईडलाइन का पालन करते हुये हमारे ईष्टदेव झूलेलाल की आराधना विधि विधान से करे।
        इस अवसर पर श्री शांतानन्द उदासीन आश्रम, तीर्थराज पुष्कर के महंत हनुमानराम उदासी ने सभी को चेटीचण्ड पर्व की शुभकामनाऐं व आर्शीवाद दिया। उन्होने बताया कि स्वामी हृदयाराम जी दूरदर्शी संत थे जिन्हें बीमारियों के लिए पूर्व आभास रहता था उन्होने चिकित्सा व शिक्षा की सेवा करने की प्रेरणा दी और देशभर में उनकी आर्शीवाद से अनेक शिक्षा व चिकित्सा के केन्द्र तैयार हुये जो आज इस विकट समय में जनसेवा में तत्पर हैं।