घर में ही आराधना करें



 
जयपुर, 24 मार्च। राज्यपाल  कलराज मिश्र ने कहा है कि ‘‘ इस समय पूरे प्रदेश  भर में लाॅक डाउन है। इसका तात्पर्य है कि कोई अपने स्थान से, घर से बाहर नही जायेगा। जहां है, वही रहे। तब ही कोरोना जैसी महामारी से विजय प्राप्त कर सकते है। लेकिन दो दिन से मैं मीडिया पर देख रहा हूं कि कई स्थाना,े कई  शहरों में लोगों ने लापरवाही की है। घर से बाहर निकले हंै। मना करने के बाद भी नही मान रहे हैं। यह दुःखद है। ‘‘

राज्यपाल ने कहा है कि ‘‘ आप घर पर रहेगें तो कोरोना से मुक्त रहेगें। प्रदेश  को भी कोरोना से मुक्त रखने में अपनी भूमिका निभायेंगे। बाहर जाकर एक तरफ से आप कोरोना को आमन्त्रित कर रहे है। कोरोना आप के लिए खतरनाक है। प्रदेश  के लिए खतरनाक है। ‘‘      

मिश्र ने कहा कि ‘‘ मेरा आप सभी से कहना है कि जो जहां है, वही रहे। 31 मार्च तक घर पर रहने के लिए कहा गया है, तो इसका अनिवार्य से पालन करें। सुविधाओं की सूचना आपको  मिल रही है। उसका उपयोग करें लेकिन अपने घर से बाहर कदापि न जायें। ‘‘

राज्यपाल ने कहा कि ‘‘ इस समय कफ्र्यू की स्थिति है। इसलिए बाहर न निकले। यदि आप लोग स्वंय नियन्त्रण नही करेंगे तो कठोरता अपनानी होगी। मैंन इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत से वार्ता की। नव संवत्सर, नवरात्रा और चेटीचण्ड महत्वपूर्ण त्यौहार हैं। घर पर ही रह कर आराधना करें । घर से बाहर न निकले। प्रदेश  को इस महामारी से उबारनें में सहयोग करें। ‘‘ 
नव संवत्सर और चेटीचण्ड के अवसर पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। राज्यपाल ने लोगों का आव्हान किया है कि नव संवत्सर और चेटीचण्ड पर घर से बाहर नही निकलने के लिए सभी संकल्प लें ताकि हम सभी एकजुट होकर कोरोना वायरस से लड सकें। राज्यपाल श्री मिश्र ने प्रदेश , देश  व दुनिया को कोरोना वायरस से मुक्त करने के लिए पूजा अर्चना कर ईष्वर से प्रार्थना की है।उन्होंने कहा कि लोग घरों से बाहर न निकले। अपने घरों में ही बैठकर नवरात्रा और चेटीचण्ड की पूजा - अर्चना करें।