ज्योतिरादित्य की ट्रेन आउटर पर रूकी


भोपाल Bopal , 24 मार्च । समय का फेर देखिये जिन्होने सीट पाने के लिए अपनी पार्टी छोडी वह अभी घर पर बैठे है ओर जिन्होने पार्टी छुडवाने के लिए तैयार किया वह मुख्यमंत्री की सीट पर है ।
 


मध्य प्रदेश के कददावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधियाJyotiraditya Scindia की जिन्होने राज्यसभा पहुंचने के लिए कांग्रेस से बाय कर भाजपा का दामन थामा । ज्योतिरादित्य सिंधिया ने तत्कालीन मुख्यमंत्री कमल नाथ से कथित विवाद के कारण कांग्रेस से त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल हुए । भाजपा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को आगामी दिनों होने वाले राज्यसभा चुनाव में मध्य प्रदेश से राज्य सभा भेजने का वायदा किया था । 


  राजनीतिक उथलपुथल के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक 22 कांग्रेस विधायकों ने विधान सभा की सदस्यता से त्यागपत्र देकर कमल नाथ सरकार की विदाई तय कर दी । कमल नाथ के मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र देने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह Shivraj Singh  एक बार फिर कल भाजपा विधायक दल के नेता चुने गये और कुछ घंटे बाद मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली । आपको बता दे कि कोरोना वायरस की महामारी के चलते राज्य सभा चुनाव अगली तिथि तक के लिए स्थगित कर दिये है ।
 ज्योतिरादित्य सिंधिया के राज्य सभा पहुंचने में देरी हो गई है लेकिन शिवराज सिंह मुख्यमंत्री सीट पर आसीन हो गये ।