कोनोरा :पुलिस कमिश्नेट,जयपुर आपकी सेवा में 

 




 डाॅक्टरर्स, नर्सेज व पैरामेडिकल स्टाॅफ की सुरक्षा सुनिष्चित करना
 सभी किराना, प्रोविजनल एवं मेडिकल स्टोर्स को 24 घंटे रखने के लिए प्रेरित करना
 फल-सब्जी के दुकानदारों को घर-घर विक्रय करने हेतु प्रेरित करना
 डोर-टू-डोर खाद्य आपूर्ति करने वाली कम्पनीज को खाद्य आपूर्ति के लिए प्रेरित करना
 प्रोविजन स्टोर्स, किराना स्टोर एवं जनरल स्टोर को डोर-टू-डोर सप्लाई के लिए प्रेरित करना
 जयपुर शहर में लाॅक डाउन की सख्ती से पालना हेतु 4500 पुलिस कर्मियों की तैनाती
 पुलिस द्वारा सामाजिक सरोकार - थाना स्तर पर असहायो, निराक्षितों एवं गरीब के लिए एन.जी.ओ. के माध्यम भोजन, आवश्यक सामग्री वितरण, मास्क एवं सेनेटाईजर का वितरण
 262 स्थानों पर नाकाबंदी एवं लाॅक डाउन का उल्लंघन करने पर 388 अनाधिकृत वाहन जब्त
 धारा 144 सी.आर.पी.सी. के उल्लंघन पर 05 अभियुक्त गिरफ्तार 
 200 गश्ती पुलिस वाहन व 50 निर्भया स्काॅड द्वारा निरतंर निगरानी एवं चेतावनी का प्रसारण
 100 पुलिसकर्मियों द्वारा 24 ग् 7 सी.सी.टी.वी. के माध्यम से लाॅक डाउन की निगरानी
 थाना स्तर पर भीड को एकत्रित होने से रोकने हेतु ड्रोन कैमरों से निगरानी 


 लाॅक डाउन के दौरान डाॅक्टरर्स, नर्सेज, पैरा-मेडिकल स्टाॅफ एवं अन्य स्वास्थ्य सेवाओं से सम्बन्धित कर्मियों को उनके मकान मालिको के द्वारा मकान खाली करने हेतु दबाब डालने की षिकायत प्राप्त होने पर मकान मालिक के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जावेगी।
 डोर-टू-डोर खाद्य सामग्री एवं अन्य सामग्री की आॅनलाईन एवं आॅफलाईन आपूर्ति करने वाली कम्पनीज बिग-बाजार, डी-मार्ट, डील-शेयर, रिलायंस रिटेल, फार्मा-ईजी एवं फ्यूचर रिटेल के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर उनके समस्त स्टाॅफ को कार्य में कोई रूकावट नही आए, इस हेतु अधिकृत स्वीकृतियां जारी की गई।
 फल-सब्जी के दुकानदारों एवं ठेले वालों के साथ बैठक कर घर-घर विक्रय करने हेतु प्रेरित किया गया।
 सभी प्रोविजन स्टोर्स, किराना स्टोर एवं जनरल स्टोर्स के प्रबन्धकों से सम्पर्क कर अधिक से अधिक डोर टू डोर सामान सप्लाई करने हेतु प्रेरित किया गया। साथ ही ऐसे स्टोर्स को अधिक से अधिक समय तक खुला रखने के लिए निर्देषित किया गया है।
 कोरोना के प्रकोप को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा घोषित 21 दिवस तक लाॅक डाउन एवं पूरे जयपुर शहर में लागू धारा 144 के प्रतिबंध की पालना कराने के लिए पुलिस आयुक्तालय के लगभभ 4500 अधिकारियों/कर्मचारियों मुस्तैदी से शहर की व्यवस्था संभाल ली। समस्त थानाधिकारी, सहायक पुलिस आयुक्त, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त एवं पुलिस उपायुक्त स्वयं लगातार गष्त एवं पेट्रोलिंग करके लाॅक डाउन की पुख्ता व्यवस्था को सुनिष्चित कर रहे है।
 जयपुर शहर में लाॅक डाउन घोषणा के बाद से प्राईवेट एवं सार्वजनिक परिवहन के साधनों जैसे बस, मिनी बस, आॅटो टैक्सी एवं ई-रिक्षा आदि पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के लिए 262 स्थानोें पर पुलिस द्वारा नाकाबंदी की गई तथा लाॅक डाउन का उल्लंघन करते हुए पाये जाने पर जयपुर शहर में कुल 388 वाहनों को जब्त किया गया। जब्त किये गये वाहनो में दो पहिया 304 व अन्य वाहन 84 जब्त किये गये है। अब तक की गई कार्यवाही में कुल 1602 दुपहिया एवं चैपहिया वाहन जब्त किये गये है।
 आमजन को जागरुक करने के बावजूद भी कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए शहर मे पांच या पांच से अधिक व्यक्तियों को एक जगह पर एकत्रित होने के प्रतिबंध के बावजूद धारा 144 सीआरपीसी का उल्लघंन करने पर पुलिस द्वारा 05 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। प्रतिबंधों के उल्लंघन में अब तक कुल 15 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।
 सोशल मीडिया पर कोरोना के संक्रमण की भ्रामक अफवाह फैलाने वाले व्यक्तियों के खिलाफ साईबर सैल पुलिस आयुक्तालय जयपुर द्वारा निरतंर निगरानी रखी जा रही है। अफवाह फैलाने वाले एवं सोषल मीडिया के दुरुपयोग के आरोप में अब तक कुल 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।
 मास्क व सेनटाईजर की कालाबाजारी करने वाले के विरूद्ध अब तक 02 प्रकरण दर्ज किये गये है।
 लाॅक डाउन की पालना करने एवं आपात स्थिति में घर से बाहर निकलने हेतु समझाईष करने के उद्देष्य से पुलिस के 200 वाहनों एवं 50 निर्भया स्क्वाॅड की मोटर साईकिल द्वारा निरतंर माईक एवं लाउड स्पीकर से निर्देष जारी किये गये।
 जागरूकता अभियान - ‘‘आप घरो में रहे, हम आपकी सुरक्षा कर रहे हैं’’
जयपुर पुलिस द्वारा कोरोना वायरस के मध्यनजर आम जनता को सोशियल मीडिया व पैदल गश्त कर घरों में रहने की हिदायत की जा रही है एवं कोरोना वायरस सुरक्षा के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों को प्रचारित व प्रसारित किया जा रहा है। लाॅक डाउन के दौरान खुली रहने वाली खाद्य सामग्री की दुकानों किराना एवं मेडीकल स्टोर पर रुके लोगों को पुलिस द्वारा इस महामारी मे दौरान बचाव के लिए उठाये जाने वाले कदमों के बारे में समझाईष की गई तथा उन्हे सुरक्षित दूरी पर लाईनों में खड़ा कराया गया। इस कार्य में सी.एल.जी सदस्य, पुलिस मित्र एवं ट्रैफिक वार्डनों की भूमिका महत्वपूर्ण रही।
 इस आपदा मे गरीब एवं असहाय व्यक्तियों की सहायता हेतु पुलिस द्वारा स्वयं सेवी संस्थाओं, धार्मिक संस्थाओं का सहयोग लेकर खाद्य सामग्री का वितरण किया गया। इस कार्य में पुलिस के जवान से लेकर अतिरिक्त पुलिस आयुक्त स्तर तक के अधिकारियों के द्वारा लगभग 7000 खाद्य पैकेट्स का वितरण किया गया। पुलिस की इस पहल का स्वागत करते हुए अन्य स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा पुलिस से सम्पर्क किया जा रहा है तथा खाद्य सामग्री उपलब्ध करायी जा रही है। पुलिस का यह प्रयास है कि कोई भी बेघर, गरीब एवं असहाय भूखा नही सोये। पुलिस और स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा इस प्रकार के लोगो के भोजन की व्यवस्था करायी जायेगी।
 पुलिस कर्मियों को संक्रमण से बचाने के लिए मास्क तथा सैनेटाईजर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराये गये तथा पुलिस आयुक्तालय एवं पुलिस लाईन में थर्मल इमेजर से स्क्रीनिंग लगातार की जा रही है ताकि संक्रमित व्यक्तियों को रोका जा सके।