कोरोना :धौलपुर , मिली कामयाबी


धौलपुर,22 मार्च । धौलपुर जिले में कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण को रोकने के लिए किए जा रहे प्रयासों से आज प्रशासन को बडी कामयाबी मिली।
 


महाराष्ट्र से धौलपुर पंहुचे करीब पांच दर्जन युवकों को प्रशासन की निगरानी टीम ने रोका। यही नहीं सभी युवकों को सदर अस्पताल ले जाकर उनकी स्क्रीनिंग कर प्रारंभिक जांच भी की गई। फिलहाल युवकों को ऐतिहातन होम आईसोलेशन में
रहने को कहा गया है।
 


धौलपुर जिले के कई युवक महाराष्ट्र और केरल में रहकर आईसक्रीम,खोया बेचने,राजमिस्त्री तथा चने बेचने का काम करते हैं।
महाराष्ट्र और केरल में कोरोना के संक्रमण के फैलने के बाद में ऐसे ही 55 युवक रविवार सुबह ट्रेन से धौलपुर पंहुचे। इसी दौरान अपर जिलाधिकारी नरेन्द्र कुमार वर्मा की अगुवाई में बाजार में गश्त कर रहे निगरानी दल ने इन युवकों को रोक पूछताछ की। 


युवकों ने धौलपुर जिले का मूल वाशिन्दा होने तथा महाराष्ट्र से वापस अपने घर धौलपुर आने की बात कही।  निगरानी दल ने मेडिकल टीम को मौके पर बुलाकर सभी युवकों को सदर अस्पताल पंहुचाया। मामले की जानकारी मिलने पर जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल स्वंय भी सदर अस्पताल पंहुच गए। इसके बाद में सभी युवकों की स्क्रीनिंग कराई गई।


 जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने मीडिया बात करते हुए बताया कि महाराष्ट्र में कोरोना के प्रकोप फैलने के कारण ऐतिहात के तौर पर धौलपुर पंहुचने वाले सभी युवकों की स्क्रीनिंग कराई गई है। फिलहाल उनमें कोरोना वायरस के संक्रमण के कोई भी लक्षण नहीं मिले हैं। सभी युवकों को सावधानी और सतर्कता बरतने के साथ में उन्हें होम आईसोलेशन
में रहने को कहा गया है।


इस मौके पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थय अधिकारी डा. गोपाल गोयल एवं सदर अस्पताल के प्रमुख चिकित्साधिकारी डा. समरवीर सिंह समेत अन्य मेडिकल टीम मौजूद रही।