कोरोना रहे दूर, आयुर्वेदिक काढ़ा पिलायेगी सरकार ।


भोपाल,27 अप्रैल । कोरोना को अपने पास नहीं फटकने देने के लिए शिवराज सिंह चौहान सरकार प्रदेशवासियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पावर) अच्छी करने के लिए आयुर्वेदिक काढा पिलायेगी ।
सरकार शुरूआत में एक करोड प्रदेशवासियों को काढा पिलाने का लक्ष्य तय किया है ।सरकार इसका कोई शुल्क नहीं ले रही है यानि बिल्कुल फ्री ।



मुख्‍यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान कहते है हमारे ऋषियों एवं वैद्यों ने आयुर्वेद में ऐसी औषधियों बनाई हैं, जिनसे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और हम स्‍वस्‍थ्‍य रहते हैं। हमारे आयुष विभाग द्वारा तैयार किया गया विशेष त्रिकुट चूर्ण-काढ़ा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में अत्‍यधिक कारगर है।  इसे प्रतिदिन तीन से चार बार पिएं। 


मुख्यमंत्री ने काढा पिलाने की योजना का नाम रखा है जीवन अमृत योजना । यह योजना सोमवार से शुरू हो चुकी है । 



चौहान ने बताया कि जीवन अमृत योजना के अंतर्गत आयुष विभाग के सहयोग से मध्‍यप्रदेश लघु वनोपज संघ द्वारा इस काढ़े के 50-50 ग्राम के पैकेट्स तैयार किए गए हैं। ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में लगभग एक करोड़ व्‍यक्तियों को यह काढ़ा नि:शुल्‍क वितरित किया जा रहा है। 


 


मुख्‍यमंत्री चौहान ने इस काढ़े को बनाने की विधि भी बताई। पीपल, सोंठ एवं काली-मिर्च को समान मात्रा में मिलाकर तथा कूटकर तैयार किए जाने त्रिकटु चूर्ण को 3-4 तुलसी के पत्‍तों के साथ एक लीटर पानी में उबालें। जब पानी आधा रह जाए, तब लगभग एक-एक कप कुनकुना काढ़ा दिन में तीन से चार बार पिएं।