कोरोना वायरस को पूरी क्षमता से मुकाबला करें राज्य - प्रधानमंत्री


भोपाल, 2 अप्रैल ।प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्यों में कोरोना की स्थिति की जानकारी लेते हुए मुख्यमंत्रियों से कहा कि सामूहिकता में शक्ति होती है। कोरोना वायरस को युद्ध से भी बड़ा संकट मानकर सभी राज्य पूरी क्षमता से इसका मुकाबला करें। 


 मोदी ने कहा कि लड़ाई दरअसल अब शुरू हो रही है। इसके लिए सभी राज्यों को तैयार रहना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी चिंता है कि ज्यादा क्षति न हो, लोग लक्ष्मण रेखा पार न करें, और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उ
उन्होंने कहा कि भारत सरकार इस दिशा में राज्यों को पूरी सहायता कर रही है। साथ ही, राज्यों के अपने प्रयास भी सराहनीय हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने मध्यप्रदेश के  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान के सुझावों का स्वागत करते हुए मध्यप्रदेश में कोरोना के नियंत्रण के लिए उठाए गए विशिष्ट कदमों की प्रशंसा की।
प्रधानमंत्री  मोदी ने कहा कि मध्यप्रदेश में पीपीई किट्स बनाने की पहल और बचाव के लिये किये जा रहे नवाचार सराहनीय हैं। मुख्यमंत्री  चौहान ने वीडियो कांफ्रेंसिंग में जानकारी दी कि मध्यप्रदेश में निर्मित पीपीई किट्स को भारत सरकार के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की प्रयोगशाला द्वारा मान्य किया गया है। इस सैम्पल के मान्य होने से अभी जहाँ दो हजार किट्स प्रतिदिन तैयार की जा रही हैं, उसकी संख्या दोगुनी की जा सकेगी। 


 चौहान ने बताया कि कोरोना युद्ध में लड़ने वाले नर्स, आशा कार्यकर्ता, उषा कार्यकर्ता, सफाई कर्मी, नगरीय निकायों के स्टाफ और पुलिस जवानों के लिए ये पीपीई किट्स बेहद उपयोगी होंगी। इसके अलावा, मध्यप्रदेश में हैण्डमेड मास्क के प्रयोग और ग्रामीण अंचलों में 3 लेयर वाले गम्छे से भी वायरस से बचाव संभव है, जिसका उपयोग हो रहा है।