लॉक डाउन उल्लंधन: 10 हजार से अधिक व्यक्ति गिरफतार       

जयपुर 24 अप्रैल। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध  बी एल सोनी ने बताया कि लॉक डाउन की पालना कराने के लिए राजस्थान पुलिस के करीब 80 हजार जवान एवं होमगार्ड के 20 हजार सहित करीब एक लाख जवानों का बल प्रदेश में तैनात है ।

 

यह बल स्थानीय स्तर पर जिला-प्रशासन, स्वास्थ्य-कर्मियों व अन्य विभागकर्मियों के साथ मिलकर आमजन को महामारी से बचाने में पूरा सहयोग कर रहे है। 

     

सोनी ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए राज्य सरकार के निर्देशानुसार समस्त राज्य में लॉक डाउन घोषित कर धारा 144 लगाई गई है। इस दौरान लॉक डाउन उल्लंघन के करीब 1350 मुकदमे दर्ज कर 3 हजार 200 व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

 

पुलिस ने सोशल मीडिया के दुरुपयोग के मामले में प्रभावी कार्रवाई करते हुए अब तक 164 मुकदमे दर्ज कर 237 लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया गया है।

     

उन्होंने बताया कि लॉक डाउन का उल्लंघन कर अकारण घूमते पाये गये करीब 9  हजार लोगों को शांति भंग के आरोप में 151 सीआरपीसी में अरेस्ट किया गया। इस दौरान अकारण घूमते पाये गये 1 लाख 91 हजार वाहनों का एमवी एक्ट के तहत चालान कर 1 लाख 3 हजार वाहनों को जब्त किया गया और एक करोड़ रुपये से अधिक जुर्माना वसूल किया गया है।  लॉक डाउन के नियमों की  पालना नही कर रहे 10 हजार से अधिक व्यक्तियों को  विभिन्न धाराओं में गिरफ्तार किया गया। 

       

एडीजी  सोनी ने बताया कि काला बाजारी करने वाले लोगो पर भी पुलिस की पैनी नजर है। लॉक डाउन के दौरान काला बाजारी करते पाये गये दुकानदारों के विरुद्ध अत्यावश्यक वस्तु अधिनियम के तहत 109 मुकदमे दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। अवैध रूप से शराब का परिवहन करने, बेचने व भंडारण करने वाले लोगों के विरुद्ध भी राजस्थान में 1200 मुकदमे दर्ज कर भारी मात्रा में शराब बरामद की है।

       

 

सोनी ने आमजन से अपील की  है कि लॉक डाउन के नियमो की पालना करे, घर पर रहे। बहुत जरूरी हो तो ही घर से बाहर निकले। उन्होंने आगाह किया कि जरूर होने पर बाहर जाते समय हर सूरत में मास्क का उपयोग करे, ऐसा नही करता पाये जाने पर 1 साल की जेल हो सकती है।

     

 उन्होंने कहा कि लॉक डाउन व कर्फ्यू के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग , क्वारेन्टाइन, सर्वे टीम को सहयोग सहित राजस्थान पुलिस के जवान अन्य कर्मियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर  कार्य कर रहे है।